Clicky

Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 
प्रतिरक्षा प्रणाली एक रक्षा तंत्र के रूप में काम करती है जो मानव शरीर को संक्रमण और बीमारियों से बचाती है।

एक छोटा अणु कर सकता है प्रतिरक्षा प्रणाली की प्रतिक्रिया को नियंत्रित

लेखक   •  
शेयर
एक छोटा अणु कर सकता है प्रतिरक्षा प्रणाली की प्रतिक्रिया को नियंत्रित
Read in English

यॉर्क विश्वविद्यालय, इंग्लैंड के वैज्ञानिकों ने पाया कि miR-132 नामक एक छोटा अणु, हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली पर एक हैंडब्रेक के रूप में काम करता है। यह अध्ययन 4 मार्च 2019 को ईएमबीओ रिपोर्ट्स नामक जर्नल में प्रकाशित हुआ था।

miR-132 नामक यह अणु हमारे जीनोम का एक हिस्सा है। यह अणु एक छोटा गैर-संकेतीकरण आरएनए अणु है। यह जीन के एक परिवार से संबंधित है जिसे microRNAs कहा जाता है।

वैज्ञानिकों ने अध्ययन के लिए एक पूर्व-नैदानिक मॉडल का आयोजन किया। यह अध्ययन आंत के काला अजार से पीड़ित रोगियों को समझने और काला अजार के नए उपचार की खोज में मदद करने के लिए किया गया था।

काला अजार एक बीमारी है जो बालू मक्खी के काटने से फैलती है। यह संक्रमण परजीवी के कारण होता है। आंत का काला अजार सबसे गंभीर रूप होता है और दुनिया में दूसरी सबसे बड़ी जानलेवा बीमारी है।

हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली एक रक्षा तंत्र के रूप में काम करती है, जो संक्रमण और बीमारी का कारण बनने वाले विषाणुओं से हमारे शरीर की रक्षा करती है। कभी-कभी प्रतिरक्षा प्रणाली ज़रूरत से ज़्यादा सुरक्षा करती है और अपने खुद के ऊतकों को नुकसान पहुंचाती है।

जब प्रतिरक्षा प्रणाली लंबे समय तक रहने वाले संक्रमण से लड़ती है, तो तिल्ली बड़ा हो जाता है क्योंकि अंग खुद हमलावर बन जाता है और शरीर को नुकसान पहुंचाता है। इस कारण से प्रतिरक्षा प्रणाली अपने कार्य को ठीक से नहीं कर पाता है और गंभीर जटिलताओं और मृत्यु भी हो जाती है।

अध्ययन के दौरान, वैज्ञानिकों ने आंत का काला अजार के एक नैदानिक मॉडल पर काम किया, जिसमें miR-132 की कमी थी। परिणामों से पता चला है कि miR-132 प्लीहा को बड़ा होने से रोकता है और प्रतिरक्षा प्रणाली की प्रतिक्रिया को भी रोकता है। इसका मतलब है कि शरीर संक्रमणों की चपेट में आ जाता है।

अध्ययन में पाया गया कि एक छोटा अणु संक्रमण से बचाने के लिए प्रतिरक्षा प्रतिक्रियाओं को आगे बढ़ाता है। परिणामों ने यह भी संकेत दिया कि miR-132 अन्य अणुओं को कैसे नियंत्रित करने में मदद करता है।

डीमिट्रिस लागोस, अध्ययन के लेखकों में से एक ने कहा, "जब आपका शरीर किसी संक्रमण की प्रतिक्रिया करता है तो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली आपकी रक्षा करती है और आपको जीवित रखती है, लेकिन यह, वह चीज भी हो सकती है जो आपको बीमार कर देती है और उस संतुलन को प्राप्त करना मुश्किल हो जाता है। आमतौर पर इसके कारण लम्बे समय तक चलने वाले संक्रमण हो जाते हैं।"

लागोस ने यह भी कहा कि "miR-132 गतिवर्धक के रूप में कार्य करता है, जिससे यह सुनिश्चित होता है कि प्रतिरक्षा प्रणाली बहुत तेज न हो और जल्दी थक न जाए। ऐसा लगता है कि इस मामले में जैसे हैंडब्रेक के साथ गाड़ी चलाते है वैसे ही हमारा शरीर हमें संक्रमण से बचाता है।”

वैज्ञानिकों का कहना है कि अब अगला कदम प्रतिरक्षा प्रणाली में miR-132 के लाभकारी प्रभाव को विकसित करना और आगे बढ़ाने वाली दवाओं का विकास करना और उसे बनाना होगा।

पाए गए परिणामों के साथ, वैज्ञानिकों का सुझाव है कि काला अजार और स्व-प्रतिरक्षित और पुरानी सूजन संबंधी बीमारियों के लिए नए संभव उपचार किए जा सकते हैं। वैज्ञानिकों का यह भी कहना है कि इन परिणामों के साथ, अब जानलेवा संक्रमणों में क्षति कम करने में मदद करना आसान हो सकता है।

ताज़ा खबर

TabletWise.com