Pharmacy Website
Clinic Website
TabletWise.com TabletWise.com
 
मध्यम हृदय दोष के साथ पैदा हुए लोगों में हृदय की विफलता के विकास की 13 गुना ज़्यादा संभावना होती है।

आनुवंशिक हृदय दोष के कारण बाद में हृदय की समस्याएं हो सकती हैं

लेखक   •  
शेयर
आनुवंशिक हृदय दोष के कारण बाद में हृदय की समस्याएं हो सकती हैं
Read in English

कैलिफोर्निया के स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन के वैज्ञानिकों ने पता लगाया है कि साधारण हृदय दोष के साथ पैदा हुए बच्चों में वयस्क होने पर हृदय की समस्याओं का विकास होने की संभावना अधिक होती है। यह अध्ययन 28 फरवरी 2019 को सर्कुलेशन नामक जर्नल में प्रकाशित हुआ था।

लगभग 1% नवजात शिशु हृदय दोष के साथ पैदा होते हैं। यह सबसे आम आनुवंशिक समस्या है। दिल में छेद या दोषपूर्ण वाल्व जैसे कम जटिल दोष के साथ पैदा हुए बच्चे आमतौर पर जीवन में बाद में दोष के बारे में पता लगे बिना जीवित रहते हैं।

शोध के लिए, वैज्ञानिकों ने यूके के बायोबैंक से वर्ष 2006 से 2010 तक लगभग 5,00,000 ब्रिटिश निवासियों की जानकारी निकाली। वैज्ञानिकों ने पाया कि लगभग 2,006 लोग मध्यम जन्मजात हृदय दोष से पीड़ित थे।

जो लोग अध्ययन का हिस्सा थे, वे 37 से 73 वर्ष की आयु के थे। इन लोगों के धूम्रपान करने, मोटे होने, उन्हें उच्च रक्तचाप या मधुमेह होने की संभावना अधिक थी जिसका कारण पता नहीं था। वैज्ञानिकों ने इन जोखिम कारकों को समायोजित किया और आश्चर्यजनक परिणाम खोजे।

उच्च जोखिम कारकों वाले लोगों की तुलना में धूम्रपान करने, मोटे होने या उच्च रक्तचाप होने जैसे कम जोखिम वाले कारकों वाले आनुवंशिक हृदय दोष से बचे वयस्कों में बेहतर परिणाम थे।

वैज्ञानिकों ने पता लगाया कि मध्यम हृदय दोष के साथ पैदा हुए लोगों में हृदय की विफलता के विकास की 13 गुना ज़्यादा संभावना होती है। यह भी पता चला कि बिना हृदय दोष के साथ पैदा हुए लोगों की तुलना में मध्यम हृदय दोष के साथ पैदा हुए लोग दुगनी संख्या में दिल के दौरे से पीड़ित होते हैं।

इसके अलावा, यह पाया गया कि हल्के हृदय दोष वाले लोगों में स्ट्रोक होने की संभावना 5 गुना होती है। परिणामों ने यह भी संकेत दिया कि पांच या उससे अधिक दिल के जोखिम के कारकों वाले लोगों की तुलना में दिल की स्वस्थ जीवन शैली वाले लोगों में दिल की समस्या विकसित होने की संभावना तीन गुनी कम थी।

वैज्ञानिक इस परिणाम का कोई कारण नहीं खोज सके। यह अभी भी एक रहस्य है कि हृदय दोष के साथ पैदा हुए लोग अधिक हृदय रोगों का शिकार क्यों होते हैं। हालांकि, वैज्ञानिक इस घटना के लिए संभावनाएं बना रहे हैं।

वैज्ञानिकों का मानना है कि लोगों में शल्य-चिकित्सा, कोशिकीय रोग और आनुवंशिक प्रवृतियां के तनाव को विकसित करने की संभावना होती है जो इसका कारण हो सकता है।

जेम्स प्रीस्ट, अध्ययन के वरिष्ठ लेखक ने कहा, "क्या यह शल्य-चिकित्सा है? क्या यह दवाएं हो सकती हैं? या यह जन्मजात हृदय रोग होने के लिए कुछ आंतरिक है? हम नहीं जानते। हम नहीं जानते कि शिशुओं को जन्मजात हृदय रोग क्यों होता है।"

एक और शोध अध्ययन की ज़रूरत है ताकि हम और बेहतर समझ सकें कि क्यों आनुवंशिक हृदय दोष के कारण हृदय की समस्याएं होती हैं।

वैज्ञानिकों का सुझाव है कि चिकित्सा समुदाय को अधिक सावधानी से उन वयस्कों को देखना चाहिए जो हृदय दोष के साथ पैदा होते हैं, यहां तक कि बहुत छोटे हृदय दोष भी। प्रमुख हृदय समस्याओं को रोकने या देरी करने के लिए जीवनशैली में बदलाव किया जा सकता है। साथ ही, डॉक्टर अधिक पर्यवेक्षण प्रदान करके मदद कर सकते हैं।

ताज़ा खबर

TabletWise.com
Home
Saved

साइन अप